Ahmad Faraz Sad Shayari-Two line

Tumhari ek nigaah se qatal hote hai log Faraz

Ek nazar hum ko bhi dekh lo ke tum bin zindagi achchi nahin lagti

तुम्हारी एक नज़र से क़तल होते हैं लोग फ़राज़

एक नज़र हम को भी देख लो की तुम बिन ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती

Faiz Ahmad Faiz dard shayari

Raaz-e-ulfat chhupa ke dekh liya

Dil bahut kuchh jala ke dekh liya

Aur kya dekhne ko baqi hai

Aap se dil laga ke dekh liya

राज़ ए उल्फत छुपा के देख लिया

दिल बहुत कुछ जला के देख लिया

और क्या देखने को बाक़ी है

आपसे दिल लगा के देख लिया

Motivational shayari sapno ki manzil

Sapno ki manzile har dum paas nahi hoti
Zindagi har lamha kuch khas nahi hoti
Khud par yakeen rakh-aye-mere dost…..
Kya pta kab wo mil jaye jiski aas nhi hoti

सपनों की मंज़िलें हर दम पास नहीं होती ज़िन्दगी हर लम्हा कुछ ख़ास नहीं होती खुद पर यकीन रख ए मेरे दोस्त क्या पता कब वो मिल जाए जिसकी आस नहीं होती